Thursday, July 21, 2016

लखनऊ शाखा द्वारा 20 मई से 21 जून तक 10 स्थानों पर व्यक्तित्व विकास शिबिर

केंद्र की लखनऊ शाखा द्वारा 20 मई से 21 जून तक 10स्थानों पर व्यक्तित्व विकास शिबिर का आयोजन किया गया।  जिसमे कुल 275 शिविरार्थियों ने भाग लिया।

Yoga Shiksha Shibir at Kashmir

All India Yoga Shiksha Shivir (Medium- Hindi) was held at Sri Ramkrishna Mahasamelan Ashram Nagadandi under the Aegis of Vivekananda Kendra from 20 to 29 June 2016.

Nineteen  participants from Six different states viz, Andhra/, Telangana, Gujarat, Madhyapradesh, Maharastra, Rajasthan & Tamilnadu   reported on 19th and same day the Shivir started with the Introductory session, wherein the participants were given the guidlines of the Shivir.

On 20th morning, Shivir was started with inaugural lecture on “Concept of Yoga” by Mananeeya Rekhadidi, the all India Joint General Secrestary of Vivekananda Kendra.The 19 participants were organized into four different Ganas (groups) – Agastya, Kashyap, Lopamudra and Gargi – Name of the Rushies.

The 10 days Shivir had daily routine from 0430 to 2200 hrs Pratahsmaran & Gita-Pathan, Yogabhyas & Pranayam (moring & evening), Shram-Samskar, two Lecture sessions, Manthan, Geet-Abhyas, Pranayama and Aumkar Dhyan (Meditation) classes, Bhajan Sandhya, and concluded with Ananda Mela.

The lecture sessions were on the topics of: Concepts of Yoga, Rajayoga, Bhaktiyoga, Janayoga and Karmayoga, Bharateeya Samkriti, Concepts of Dharma, History of Kashmir, Meaning of Kendra Prarthana, Shrimad Bhagwad Geeta, Maneeya Eknathaji, Swami Vivekananda, Story of Vivekananda Rock Memorial, Challenges and Response, Vivekananda Kendra-Concept and its activities.

During Manthan Participants discussed over different Chapters from Sadhana of Service, Yam-Niyam and Bharatiya Samskriti.

During Shram-Samskar, participants took care of the cleanliness, arrangement and management of the premises, accommodation, class rooms, dining hall,  Plantation of new flower garden in ashram, work in apple garden and Guashala displaying team-spirit and selfless service.

During the Camp, Participants visited Kokarnag, Verinag, Martand Sun Temple, Achhabal Garden.

The Shivir went on well in a congenial, spiritual atmosphere with self discipline.

The camp was concluded on 29th with one public function where Shri Lawey MP - Rajyasabha; MLA from local Surrender Ambadar - Jammu BJP and Shri Gulzar Wani - Congress were present as a guest. The program was also attened by locals. Shri Abhay Bapatji, Maharastra Prant Pramukh, Shri BL Bhat- chairman of Sri Ramkrishana Mahasammelan Ashram also were present.

Many of the participants have expressed their willingness to devout their time and energy for the Service of the society through Vivekananda Kendra. Few enrolled as Patrons thus joining the large family of Vivekananda Kendra. 

200-year-old Mohabeer Dharmasala restored to its green glory

"This will be an ideal building to showcase use of green energy
The Vivekananda Kendra, which has been working on “Green and Clean Rameswaram” project, giving fresh lease of life to ‘theerthams’ (venerated water bodies) in around the island, has renovated the 200-year-old Mohabeer Dharmasala, preserving the antiquity.
The massive structure built by a Maharashtra-based businessman, near the Railway Station, was vandalised and presented a picture of neglect after it remained shut for nearly 12 years, when the Kendra took up its renovation by engaging Puducherry-based conservation architect Asaithambi Gurusamy.
The Dharmasala, in which Maa Sarada Devi, the spiritual consort of Ramakrishna Paramahamsa, had stayed, wore a new look now with fresh coat of paint and all set for inauguration during the middle of this month. It was renovated at a cost of Rs. 1.37 crore.
“We have renovated the whole structure using lime mortar, one of the oldest types of mortars and Madras terrace roofing, the traditional flooring technique practiced in south India to preserve the antiquity,” Mr. Gurusamy told The Hindu on Friday when Collector S. Natarajan inspected the renovation work.
When the 8,500 sq ft ground and first floor structure was shut for about 12 years, it was vandalised and the wood and rafters were stolen, he said. “Nearly 50 per cent of the roofing was not there and we renovated the roofing with its originality,” he said.
The original building had 11 rooms at the ground floor and three in the first floor, mainly for the business community to stay after offering worship at the Sri Ramanathaswamy temple and they have converted the ground floor into an open air auditorium.
The auditorium would be used to showcase the folklore of Rameswaram, its unique culture and landscape of the island through drama, short film and puppet shows, Mr. Gurusamy said. The auditorium could accommodate about 70 pilgrims and the shows would be organised daily, he said.
The important aspects of the renovation were installation of solar power to meet the entire power requirement and decentralised waste water system, he said adding “this will be an ideal building to showcase use of green energy.”
The Kendra was implementing ‘Green and Clean Rameswaram project’ under the Natural Resources Development Project (NARDEP) and the structure was renovated under the project, V. Saraswathi, Project coordinator, said.

Tuesday, July 19, 2016

विवेकानन्द केन्द्र के संस्थापक की जन्मभूमि ‘टिमटाला’ क्षेत्र बनेगा आदर्श ग्राम : पियूष गोयल

केन्दीय ऊर्जा और कोयला मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) पीयूष गोयल ने कहा कि विवेकानन्द शिलास्मारक के निर्माता तथा विवेकानन्द केन्द्र के संस्थापक स्वर्गीय एकनाथ रानडे की जन्मभूमि ‘टिमटाला’ में आकर मैं गौरवान्वित अनुभव कर रहा हूं।

गोयल ने कहा कि विवेकानन्द केन्द्र के कार्य के लिए एकनाथजी रानडे जब भी मुंबई आते थे, तब वे उनके घर आते थे। एकनाथजी को उन्होंने देखा है, उन्होंने मुझे बहुत प्रभावित किया है। उन्होंने कहा जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने सांसद आदर्श ग्राम योजना हम सांसदों के सामने रखी, तभी मैंने निश्चय कर लिया था कि मैं टिमटाला को दत्तक लूंगा और उसे आदर्श ग्राम बनाऊंगा। गोयल ने कहा कि इस भूमि ने एकनाथजी रानडे जैसा महापुरुष दिया, इसके लिए टिमटाला गांव को नमन है। टिमटाला एक तरह से तीर्थ स्थल ही है, यहां आकर प्रेरणा मिलती है।

उल्लेखनीय है कि ऊर्जा मंत्री पियूष गोयल ने अमरावती के नांदगांव खंडेश्वर तहसील में आनेवाले टिमटाला सहित चार अन्य गांवों को ‘सांसद आदर्श ग्राम योजना’ के अंतर्गत दत्तक लिया है। ज्ञात हो कि स्वतंत्रता के बाद पहली बार पियूष गोयल के रूप में प्रथम बार कोई केन्द्रीय मंत्री इस टिमटाला क्षेत्र में आए हैं। इससे पहले कोई भी केन्द्रीय मंत्री इस क्षेत्र में नहीं आए थे। इसलिए ग्रामवासी गोयल के आगमन पर बेहद उत्साहित हैं। ग्रामवासियों ने गोयल के आगमन पर पूरे गांव में स्वच्छता की, द्वार पर रंगोली बनाई तथा बाजा-गाजा के साथ मंत्री का स्वागत किया।

टिमटाला, जनुना, निरसाना, खिरसाना तथा अडगांव को आदर्श गांव बनाने के लिए संकल्पित मंत्री गोयल ने कहा कि मैं इन पांच गांवों को गोद लेकर कोई उपकार नहीं कर रहा हूं, यह मेरा कर्तव्य है। दत्तक लिये गए गांवों का विकास करना सामाजिक ऋण को पूरा करनेवाला काम है।          

ग्रामोदय के लिए जन भागीदारी आवश्यक

ऊर्जा मंत्री पियूष गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गांवों और किसानों के उत्थान के लिए “ग्रामोदय” तथा “सांसद आदर्श ग्राम योजना” हमारे सामने रखी है। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में ग्रामोदय के कार्य देशभर में चल रहा है। ग्रामोदय के कार्य सरकार की योजना को सही तरीके से गांवों में लागु करने से ही गांवों का विकास होगा। उन्होंने कहा कि सरकार के साथ ही गांव वालों को भी विकास के लिए आगे आना होगा। जन सहभागिता से ही देश का विकास हो सकता है। जबतक हर नागरिक विकास कीई यात्रा में सहभागी नहीं होता, तब तक सही अर्थों में गांव का विकास नहीं होता। इसलिए आप सभी इस विकास यात्रा में सहभागी हो।

गोयल ने कहा कि तेजी से विकास का दौर अब शुरू हो चुका है। गांवों के विकास के लिए जो राशि खर्च की जा रही है, वह आप ही की है। इसलिए सरकारी कामों की पड़ताल जरुरी है। प्रत्येक काम में क्वालिटी होनी चाहिए। यह तभी संभव है जब भ्रष्टाचार न हो। इसलिए गांववासी देखें कि ट्रक में सीमेंट कितना आया, उसका उपयोग ठीक से हो रहा है या नहीं। यदि आप इसका ध्यान रखेंगे तो काम अच्छा होगा। ऊर्जा मंत्री ने जोर देकर कहा कि भ्रष्टाचार पर जब आप चुप होते हैं तो आप भी भ्रष्टाचार में लिप्त लोगों के साथ दोषी हैं। इसलिए कुछ गड़बड़ी हो तो मुझे बताएं।

सरकार की योजनाएं आपके लिए

पियूष गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने जनता के लिए प्रधानमंत्री बीमा योजना, प्रधानमंत्री जन धन योजना तथा मुद्रा योजना बनाई है। किसानों को कर्ज लेने के लिए अब साहूकारों के पास नहीं जाना है। छोटे-मोटे व्यवसाय के लिए यदि रुपयों की आवश्यकता है तो बैंक में मुद्रा योजना के तहत लोन लीजिए। उन्होंने बताया कि मोदी सरकार ने मुद्रा योजना के अंतर्गत लगभग तीन करोड़ लोगों को 1 लाख, 20 हजार करोड़ रूपये का लोन दिया गया है। इस वर्ष 1 लाख, 80 हजार रूपये का लोन दिया जाएगा। इसलिए आप भी इस योजना का लाभ उठाइए। यदि कोई बैंककर्मी आपको इस योजना के तहत आपको लोन नहीं देता है तो सीधे मुझे बताइए। अकारण जनता को परेशान करनेवालों पर केन्द्र सरकार योग्य निर्णय लेगी।

शुभारम्भ और घोषणाएं

25 जून को अपने एक दिवसीय अमरावती प्रवास के दौरान केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री पियूष गोयल ने दत्तक लिए गए पांच गांवों में विकास कार्यों का शुभारम्भ किया। इस दौरान केन्द्रीय मत्री ने एलईडी स्ट्रीट लाइट व मोबाइल से चलाए जा सकनेवाले कृषि पम्प का शुभारंभ किया। गायत हो कि पहले उन्होंने केवल चार गांव को ही दत्तक लिया था, लेकिन जब समारोह के बीच अडगांव के सरपंच ने अपने गांव को भी सांसद आदर्श ग्राम योजना में शामिल करने की मांग की तो ऊर्जा मंत्री ने तुरंत इस मांग को स्वीकार कर लिया।

केन्द्रीय मंत्री गोयल ने यह भी कहा कि जनुना स्थित विद्यालय की इमारत जर्जर हो चुकी है, इसलिए वहां नए विद्यालय भवन का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इन पांचों गांवों में मूलभूत सुविधा उपलब्ध कराने के लिए विकासात्मक क्लस्टर की स्थापना की गई है। इस क्लस्टर में शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि, बैंक, पोस्ट ऑफिस, रास्तों का विकास और चौड़ीकरण, शौचालयों का निर्माण, पीने का शुद्ध जल, बिजली आपूर्ति तथा खाद्य सामग्री वितरण जैसी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध होंगी। उन्होंने कहा कि नहर द्वारा पानी की सुविधा की जाएगी। उन्होंने पारंपरिक ऊर्जा बचत पर जोर देते हुए पुराने कृषि पम्पों व बल्बों को बदलने की बात कही तथा बिजली बचत के लिहाज से किफायती कृषि पम्प व एलईडी लाइट का प्रयोग करने पर बल दिया। केंद्रीय मंत्री ने इस दौरान अमरावती मनपा को जल्द ही 34 हजार एलईडी स्टीट लाइट देने की बात भी की।

गोयल ने कहा कि जलयुक्त शिवार योजना के अंतर्गत किसानों को सिंचाई की सुविधा उपलब्ध की जाएगी। इन गांवों में लगभग 232 मोटरपम्प वितरित किए जाएंगे। उन्होंने कृषि पम्प वितरण योजना के तहत अमरावती जिले में लगभग 1 लाख, 16 हजार कृषि पम्प वितरित किए जाने की बात कही।        

ग्राम विकास संकुल का होगा निर्माण 

केन्द्रीय ऊर्जा मंत्री पियूष गोयल ने इस बात की घोषणा कि आगामी कुछ वर्षों में दत्तक लिए गए पांच गावों के मध्य स्थल पर 3 एकड़ भूमि पर ग्राम विकास संकुल का निर्माण किया जाएगा। इस संकुल में सभी प्रकार की सुविधाएं होंगी ताकि किसी आवश्यक वस्तुओं तथा सेवाओं के लिए ग्रामवासियों को शहर की ओर न जाना पड़े। उन्होंने बताया कि ग्राम विकास संकुल में ग्राम पंचायत का सचिवालय, राष्ट्रीयकृत बैंक ग्राहक सेवा केन्द्र, भारतीय दूरसंचार निगम सुविधा टॉवर, कृषि उपकरण तथा बीज विक्री केन्द्र, पोस्ट ऑफिस, वाचनालय, स्वास्थ्य केन्द्र, दवाई स्टोर, नागरी ई-सुविधा केन्द्र, महावितरण कार्यालय बिजली बिल भरने का केन्द्र, कम्पूटर प्रशिक्षण केन्द्र, व्यायाम शाला सहित अनेक जीवनावश्यक वस्तुओं के भंडार होंगे। उन्होंने गांव के बालक, युवाओं के साथ ही बड़ों को आह्वान किया कि सभी कम्प्यूटर का प्रशिक्षण लें।

इससे पहले केन्दीय ऊर्जा राज्य मंत्री पीयूष गोयल ने विदर्भ के महान संत कर्मयोगी गाडगे बाबा तथा विवेकानन्द केन्द्र के संस्थापक एकनाथजी रानडे की प्रतिमा को अभिवादन किया। इस दौरान उन्होंने निरसाना, खिरसाना, जनुना और टिमटाला के गांवों का प्रवास किया। किसानों से संवाद साधा। टिमटाला में आयोजित पियूष गोयल के समारोह में अमरावती के पालक मंत्री प्रवीण पोटे, सांसद आनंदराव अडसूळ, वर्धा के सांसद रामदास तडस, विधायक डॉ.अनिल बोंडे, कांग्रेस विधायक वीरेन्द्र जगताप, जिला परिषद् सदस्य अभिजित ढेपे, भाजपा के जिलाध्यक्ष दिनेश सूर्यवंशी, भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता शिवराय कुलकर्णी, विवेकानन्द केन्द्र के महाराष्ट्र प्रान्त के सहसंचालक किरण कीर्तने, तुषार भारतीय, जिलाधिकारी किरण गीते, सुनील सरोदे, टिमटाला से सरपंच अशोक भेंडे, अरविन्द नळकांडे, गटविकास अधिकारी सूरज मोहोड आदि प्रमुखता से उपस्थित थे। इस दौरान केन्द्रीय मंत्री गोयल ने सावित्रीबाई फुले शिष्यवृत्ति योजना के अंतर्गत गुणवान विद्यार्थियों को प्रमाणपत्र दिया, साथ ही राष्ट्रीय अन्न सुरक्षा योजना के तहत लाभार्थियों को अन्न धान्य का वितरण किया गया। समारोह में हजारों की संख्या में ग्रामवासी उपस्थित थे। 

IYD Celebration at West Bengal

Vivekananda Kendra Kanyakumari, Paschimbanga Prant organized the International Yoga Day Celebration in many places.

1 : VK- Durgapur Branch  organised at Samskar Varg, at Shri Shri Hari Chand mandir, gantantra colony. Toatal 30 students paricipated.

# 400 students are particpated in IYDC at T. N.High school, Durgapur.

# 113 participants are present at the Ramkrishna Vivekananda Mission Federation school at Uttarpally, Durgapur.

# 87 participants are present at Banbihar Primary school at mamra bazar, Durgapur.

# At Yoga Varg (sisters) total participate 9.

2 : On the auspicious occasion of International Yoga Day, Vivekananda Kendra Kanyakumari Kolkata Mahanagar organised International Yoga Day Celebration at IIM KOLKATA.

It was conducted by Dr.Arun Upadhyay (Prant Sah Vyavastha Pramukh) with Shri Ramesh Mundra (Sampark Pramukh, Vivekananda Nagar), Smt.Sarita Sehgal (Vistaar Pramukh, Hatibagan), Manish Pandey (Sanskar Varg Pramukh), Ku.Malti (Sampark Pramukh, Malda), Ku.Shubhangi Upadhyay (Vistaar Pramukh-Shalimar).

70 Students along with the Faculty Members & the Directer of IIM Kolkata participated in the programme.

3 : VK-Loknath Nagar Celebrate IYD at Arpita Apartment, Rajarhat, total 11 participants present.

4 : VK-Salt Lake Yoga Varg celebrate the IYD at Central Park, Salt Lake.  Total 110 participants present.

5 : Vivekananda Nagar Yoga Varg celebrate the IYD at VK-Kolkata karyalay. Total 7 participants present.

6 : VK-Bolagarh celebrate the IYD at Bolagarh. Total 15 participants present. 

Friday, June 24, 2016

International Day of Yoga Celebrated at Shimla

International Day of Yoga Celebrated at Shimla 2016Vivekananda Kendra Kanyakumari Branch Shimla has celebrated International Day of Yoga to spread awareness of Yogabhyas, Regular Routine at two prime places of Shimla, Nabha Estate + Phagli area and Sector 3 of New Shimla.
To make the celebration successful, a 10days Yoga Satra was arrange at RadhaKrishna Temple at Nabha area for the new aspirants. Celebration started at 6am at Tennis Court, with 3 aumkar & ShantiPath followed by a loosening exercises, Assan & Pranayam in line with the common protocol of the International Day of Yoga by the Ministry of Ayush. Samskar Varg Pramukh Shivam Riya & Kumari Varsha Rani helped the first timer to do practice without hesitation.  Eminent persons like Dr. Ashwin from Department of Ayurveda of Himachal Pradesh, Nabha Corporate Shri ShashiShekharji, Phagli Corporate Shri Kalyanji, Shri KrishnaKumar Sharma (retd) AGM of State Bank of India, were partake in the Yogabhyas practice. Shri Hardikji, IT Sangathak of VRM&VK explains the basic of yoga,  and important it in our daily routine and don't limit the yogabhyas just as exercise but get higher values by our culture  and invited all to partake in daily Yoga Varga at Vivekananda Kendra at Nabha Estate. The celebration concluding with the SanthiMantra, total 41 persons participated in celebration.
At New Shimla in association with Arogya Bharati Dr. Rakesh Pandit, Vivekananda Kendra celebrated International Day of Yoga at Garden of Sector-3. Vivekananda Kendra's Karyalaya Pramukh Shri Himmat Singh guided 30 participants with Loosening, Assam and Pranayam. By getting the enthusiasm of participants from age 8 to 70, the program is extend for more 2 days to teach SuryaNamaskars. In coming months the Yoga Satra & Aumkar Dhyan Satra is going to be conduct.  

जबलपुर में अंतरराष्टीय योग दिवस का आयोजन

International Day of Yoga in Jabalpur 2016विवेकानन्द केन्द्र कन्याकुमारी शाखा जबलपुर द्वारा अंतरराष्टीय योग दिवस के उपलक्ष्य  में श्री राम इंस्टीटूट ऑफ टेकनोलोजी के १२३ छात्रों के साथ  योग अभ्यास  का आयोजन किया गया , जिसमे मुख्य अतिथि के रूप में प्राचार्य अतुल दुवे जी एवं NCC के प्रभारी राहुल पाठक जी उपस्थित थे।  कार्यक्रम में स्वसन व्यायाम , सूर्यनमस्कार , आसन व प्रायाणाम का अभ्यास कराया गया।  कार्यक्रम में केन्द्र की जानकारी के साथ  उठो ! जागो ! युवा ! प्रतियोगिता  के लिए भी आह्वान किया  गया।